गेहूं का दलिया - एक सस्ता और सेहतमंद विकल्प जो देता है ऊर्जा और पोषण। जानिए इसके फायदे!

गेहूं का दलिया खाने से आपकी त्वचा, बाल, और नाखून स्वस्थ और चमकदार बनते हैं। इसे सेहतमंद आहार का हिस्सा बनाएं।

गेहूं का दलिया - एक सस्ता और सेहतमंद विकल्प जो देता है ऊर्जा और पोषण। जानिए इसके फायदे!

गेहूं का दलिया, जिसे आमतौर पर गेहूं से बनाया जाता है, एक पौष्टिक और स्वास्थ्यवर्धक आहार है जो भारतीय भोजन पद्धति में पसंद किया जाता है। यह एक प्रकार का गेहूं है जिसे बिना छिला किए पीसा जाता है, जिससे इसकी तैयारी आसान हो जाती है। गेहूं का दलिया को अंग्रेजी में "wheat porridge", "broken wheat" या "wheat dalia" के रूप में जाना जाता है। गेहूं के दलिये को विभिन्न तरीकों से पकाया जा सकता है और इसे अन्य खाद्य पदार्थों के साथ मिश्रित किया जा सकता है।

आयुर्वेद में गेहूं के दलिये को बहुत महत्वपूर्ण माना गया है और इसे एक पौष्टिक और उपयोगी आहार माना गया है। यहाँ कुछ आयुर्वेदिक महत्वपूर्ण तथ्य हैं गेहूं के दलिये के बारे में:

  1. दोष शामक: गेहूं का दलिया तृदोष (Vata), पित्त (Pitta), और कफ (Kapha) को संतुलित करने में मदद करता है। इससे शारीरिक और मानसिक संतुलन बना रहता है।
  2. शुद्धिकरण: गेहूं का दलिया शरीर के विषैले पदार्थों को बाहर निकालने में मदद करता है और शरीर को शुद्ध रखता है।
  3. पाचन क्षमता: यह पाचन को मजबूत करता है और अच्छी तरह से भोजन को पचाने में मदद करता है। इससे आहार का संचयन भी अच्छा होता है।
  4. ऊर्जा प्रदान: गेहूं का दलिया शरीर को ऊर्जा प्रदान करता है और शारीरिक थकावट को दूर करने में मदद करता है।
  5. देह के धातु संतुलन: इसका नियमित सेवन शरीर के सभी धातु संतुलन को बनाए रखता है और शरीर को स्वस्थ रखता है।
  6. मानसिक स्वास्थ्य: गेहूं का दलिया मानसिक तनाव को कम करने में मदद करता है और मन को शांति देता है।

इन आयुर्वेदिक महत्वपूर्ण तथ्यों के कारण गेहूं का दलिया हमारे लिए एक अत्यंत उपयोगी आहार है और हमें नियमित रूप से इसका सेवन करना चाहिए।

गेहूं के दलिये के पोषक तत्व 

गेहूं के दलिये में कई पोषक तत्व पाए जाते हैं जो हमारे शारीर के लिए फायदेमंद होते हैं। ये पोषक तत्व निम्नलिखित हैं:

  • प्रोटीन: गेहूं के दलिये में प्रोटीन की अच्छी मात्रा होती है, जो मांस, दूध आदि की तुलना में अधिक पारंपरिक खाद्य उत्पादों में मिलता है।
  • फाइबर: यह अन्य सूखे अनाजों की तुलना में अधिक फाइबर स्रोत होता है।
  • विटामिन्स और खनिज: गेहूं के दलिये में विटामिन बी, फोलेट, आयरन, मैग्नीशियम, फॉस्फोरस, आदि शामिल होते हैं।
  • एंटीऑक्सीडेंट्स: गेहूं के दलिये में विटामिन ई और सेलेनियम जैसे एंटीऑक्सीडेंट्स पाए जाते हैं, जो शरीर को रोगों से लड़ने में मदद करते हैं और उसको रोग प्रतिरोधी बनाते हैं।

इन सभी पोषक तत्वों की यह सही मात्रा एक स्वस्थ और पौष्टिक आहार का महत्वपूर्ण हिस्सा बनाती है और गेहूं के दलिये को नियमित रूप से खाने से हमारे शारीर को उनकी आवश्यकताओं को पूरा करने में मदद मिलती है।

यहाँ गेहूं के दलिये में प्रति 100 ग्राम में पाए जाने वाले प्रमुख पोषक तत्वों की सूची है:

  1. प्रोटीन: लगभग 12 ग्राम प्रोटीन
  2. कार्बोहाइड्रेट्स: लगभग 71 ग्राम कार्बोहाइड्रेट्स
  3. फाइबर: लगभग 12 ग्राम फाइबर
  4. विटामिन बी1 (थायमिन): 0.2 मिलीग्राम
  5. विटामिन बी3 (नियासिन): 5.1 मिलीग्राम
  6. फोलेट (फोलिक एसिड): 19 मिक्रोग्राम
  7. कैल्शियम: 34 मिलीग्राम
  8. आयरन: 3.6 मिलीग्राम
  9. मैग्नीशियम: 55 मिलीग्राम
  10. फॉस्फोरस: 215 मिलीग्राम
  11. पोटैशियम: 120 मिलीग्राम
  12. सोडियम: 2 मिलीग्राम
  13. जिंक: 1.2 मिलीग्राम
  14. कोपर: 0.3 मिलीग्राम
  15. सेलेनियम: 35 मिक्रोग्राम

ये पोषक तत्व गेहूं के दलिये में पाए जाने वाले हैं और इन्हें नियमित रूप से सेवन करके हमारे शरीर को उत्तम स्वास्थ्य और ऊर्जा प्रदान की जा सकती है।

गेहूं का दलिया खाने के फायदे

गेहूं का दलिया एक पौष्टिक और स्वास्थ्यवर्धक आहार है जिसमें कई फायदे होते हैं। यहाँ गेहूं के दलिया खाने के 10 मुख्य फायदे हैं:

  • पोषण से भरपूर: गेहूं का दलिया प्रोटीन, फाइबर, विटामिन्स, और खनिजों से भरपूर होता है जो शारीर के लिए बहुत फायदेमंद होते हैं।
  • वजन नियंत्रण: गेहूं का दलिया भूख को कम करने में मदद करता है और वजन नियंत्रण में सहायक होता है।
जानें और: वजन कम करने के लिए आयुर्वेदिक घरेलू उपचार
  • हार्ट हेल्थ: इसमें मौजूद फाइबर और अन्य पोषक तत्व हृदय के लिए फायदेमंद होते हैं और दिल की सेहत को सुधार सकते हैं।
  • डायबिटीज का प्रबंधन: गेहूं का दलिया खाने से इन्सुलिन का स्तर संतुलित रहता है, जिससे डायबिटीज को प्रबंधित किया जा सकता है।
जानिए: कैसे शुगर को नियंत्रित करें? फलों, सब्जियों, जड़ी-बूटियों, और मसालों के सहारे
  • ऊर्जा स्तर: इसमें मौजूद कार्बोहाइड्रेट्स ऊर्जा को बढ़ावा देते हैं और दिनभर की थकान को दूर करते हैं।
  • पाचन को सुधारे: गेहूं का दलिया पाचन को सुधारता है और कब्ज से राहत दिलाता है।
  • त्वचा के लिए फायदेमंद: इसमें मौजूद विटामिन्स और एंटीऑक्सीडेंट्स त्वचा को स्वस्थ और चमकदार बनाते हैं।
  • मानसिक स्वास्थ्य: इसमें पोषक तत्व हमारे मानसिक स्वास्थ्य को बढ़ावा देते हैं और तनाव को कम करने में मदद करते हैं।
  • कैंसर से बचाव: गेहूं के दलिये में मौजूद एंटीऑक्सीडेंट्स कैंसर के खिलाफ रक्षा करते हैं।
  • मासिक धर्म की समस्याओं में लाभ: इसका नियमित सेवन मासिक धर्म की समस्याओं में राहत दिलाता है और महिलाओं के स्वास्थ्य को सुधारता है।

इसलिए, गेहूं के दलिये को अपने आहार में शामिल करने से आपके शारीर को कई स्वास्थ्यवर्धक लाभ हो सकते हैं।

गेहूं का दलिया खाने के तरीके

गेहूं का दलिया बनाने के कई तरीके हैं जो स्वादिष्ट और पौष्टिक होते हैं। यहाँ कुछ प्रमुख गेहूं के दलिया खाने के तरीके हैं:

गेहूं दलिया पुलाव:

    • पानी में धोये हुए गेहूं के दलिये को पानी में उबालें।
    • उबालने के बाद उन्हें छान लें और रख दें।
    • एक कड़ाही में तेल गरम करें, जीरा और दालचीनी डालें।
    • फिर प्याज़, टमाटर, हरी मिर्च और नमक डालें।
    • इसके बाद गेहूं के दलिये डालें और मिलाएं।
    • थोड़ा पानी डालें और सिम पर पकाएं।
    • गरमा गरम पुलाव परोसें!

गेहूं दलिया खीर:

    • गेहूं के दलिये को धोकर उबालें और अच्छे से पकाएं।
    • दूध, चीनी और इलायची पाउडर मिलाकर उसमें डालें।
    • हल्की आंच पर खीर बनाएं और ठंडा होने दें।
    • ठंडा होने पर नारियल बुरादा और खजूर छोटे टुकड़ों में मिलाएं।
    • ठंडी खीर को सर्व करें।

गेहूं दलिया उपमा:

    • गेहूं के दलिये को सूखी तवे पर सुनहरा होने तक भूनें।
    • फिर तेल में राई, चना दाल, हरी मिर्च, प्याज़, अदरक और कटी हुई सब्जियाँ डालें।
    • सब्जियाँ सुनहरी होने पर उसमें गेहूं के दलिये और नमक मिलाएं।
    • पानी डालकर उसे पकाएं और उपमा तैयार है।

गेहूं दलिया केक:

    • गेहूं के दलिये को दूध में उबालें और फिर ठंडा होने दें।
    • इसमें शक्कर, घी, बेकिंग पाउडर और वनीला एक्सट्रैक्ट मिलाएं।
    • फिर इसे बटर से लगे केक की तरह सेंधवानी में बेक करें।
    • ठंडा होने पर गेहूं दलिया केक को काटकर परोसें।

इन तरीकों से आप गेहूं के दलिये को स्वादिष्ट और आसान तरीके से खा सकते हैं और इसके लाभ उठा सकते हैं।

गर्भवती महिलाओं के लिए

गर्भवती महिलाओं के लिए गेहूं का दलिया बहुत ही पौष्टिक और उपयोगी होता है। यहाँ कुछ कारगर कारण हैं जिनके लिए गर्भवती महिलाएं गेहूं के दलिये का सेवन कर सकती हैं:

  • पोषण से भरपूर: गेहूं का दलिया उन्हें ज़रूरी पोषण प्रदान करता है जैसे कि प्रोटीन, फाइबर, विटामिन्स और खनिज। ये सभी तत्व गर्भवती महिला के और उनके शिशु के लिए महत्वपूर्ण हैं।
  • हेमोग्लोबिन के स्तर को बनाए रखने में मदद: गेहूं के दलिये में पाए जाने वाले फॉलेट और आयरन, जो हेमोग्लोबिन के स्तर को बनाए रखने में मदद करते हैं, जो गर्भवती महिला के लिए बहुत ज़रूरी है।
फोलेट: जानें क्यों गर्भवती महिलाओं के लिए Folate जरूरी है? Top Folate खाद्य पदार्थों की सूची
  • डायबिटीज को नियंत्रित करना: गेहूं का दलिया उच्च फाइबर का स्रोत होता है जो रक्त शर्करा को संतुलित रखने में मदद कर सकता है, जिससे डायबिटीज का प्रबंधन आसान होता है।
  • कब्ज से राहत: गर्भावस्था के दौरान कब्ज एक आम समस्या हो सकती है, जिसे गेहूं के दलिये का सेवन करके दूर किया जा सकता है।
  • ऊर्जा स्तर को बढ़ावा: गेहूं के दलिये में मौजूद कार्बोहाइड्रेट्स ऊर्जा को बढ़ावा देते हैं जो गर्भवती महिलाओं को ठंडाई और ऊर्जावान रखने में मदद करते हैं।
  • वजन नियंत्रण: गेहूं के दलिये का सेवन वजन को नियंत्रित रखने में मदद कर सकता है, जो गर्भवती महिलाओं के लिए जरूरी है।
  • ताजगी और सेहतमंद रहना: गेहूं के दलिये का सेवन शरीर को ताजगी और सेहतमंद बनाए रखता है, जिससे माँ और शिशु दोनों को स्वस्थ रहने में मदद मिलती है।

इसलिए, गर्भवती महिलाओं को गेहूं का दलिया नियमित रूप से खाना चाहिए ताकि उन्हें और उनके शिशु को सही पोषण मिल सके और स्वस्थ रह सके।

सावधानियाँ और सुझाव

गेहूं के दलिये का सेवन करते समय कुछ सावधानियाँ और सुझाव ध्यान में रखने चाहिए:

  • ग्लूटेन एलर्जी: यदि आपको ग्लूटेन संवेदनशीलता है, तो गेहूं के दलिये का सेवन न करें। इससे आपको खराबी हो सकती है।
  • सही मात्रा: गेहूं के दलिये की सही मात्रा का पालन करें। अधिक मात्रा में खाने से पाचन समस्याएँ हो सकती हैं।
  • सेवन की विधि: गेहूं के दलिये को अच्छे से धोकर उबालें या पकाएं। अनपक्व या अशुद्ध दलिया से बचें।
  • संतुलित आहार: गेहूं के दलिये को संतुलित आहार का हिस्सा बनाएं, और अन्य पोषक तत्वों से भरपूर आहार भी लें।
  • डायबिटीज या थायराइड के मरीज़: यदि आप डायबिटीज या थायराइड के मरीज़ हैं, तो पहले अपने डॉक्टर से सलाह लें कि गेहूं के दलिये का सेवन कितनी मात्रा में करना उचित होगा।
  • साफ पानी का सेवन: गेहूं के दलिये को पकाते समय साफ और पीने के पानी का उपयोग करें।
  • संतुलित व्यायाम: गेहूं के दलिये का सेवन करते समय नियमित व्यायाम करें ताकि आपके शारीर का पोषण सही ढंग से हो सके।

इन सावधानियों का पालन करके आप गेहूं के दलिये के सेवन से उनके सभी फायदों को प्राप्त कर सकते हैं और स्वस्थ जीवन जी सकते हैं।

निष्कर्ष

गेहूं का दलिया एक पौष्टिक और स्वादिष्ट आहार है जिसमें कई स्वास्थ्यवर्धक गुण होते हैं। इसे नियमित रूप से खाने से आपके शारीरिक और मानसिक स्वास्थ्य में सुधार हो सकता है।

अक्सर पूछे जाने वाले प्रश्न (FAQs)

क्या गेहूं के दलिये का सेवन करना सेहत के लिए फायदेमंद है?

  • हां, गेहूं के दलिये में पोषण से भरपूर गुण होते हैं जो हमारे शारीर के लिए फायदेमंद होते हैं।

क्या गेहूं के दलिये को दिन में कितनी बार खाना चाहिए?

  • गेहूं के दलिये का सेवन मात्रा आपके आहार और उपयोग के आधार पर निर्भर करती है, लेकिन सामान्य रूप से इसे दिन में एक या दो बार खाया जा सकता है।

क्या गेहूं के दलिये के सेवन से वजन घटाना संभव है?

  • हां, गेहूं के दलिये का सेवन वजन नियंत्रण में मददगार हो सकता है क्योंकि यह भूख को कम करने में मदद करता है और पोषक तत्वों से भरपूर है।

क्या गेहूं के दलिये को किस तरह से बनाया जाता है?

  • गेहूं के दलिये को पानी में पकाकर या दूध में उबालकर बनाया जा सकता है, और इसे अन्य सामग्रीयों के साथ मिश्रित करके तैयार किया जा सकता है।

क्या गेहूं के दलिये व्यंजनों में उपयोग हो सकता है?

  • हां, गेहूं के दलिये को पुलाव, खिचड़ी, केक, या अन्य व्यंजनों में उपयोग किया जा सकता है और इससे स्वादिष्ट और पोषण से भरपूर खाद्य बनाया जा सकता है।

इस आर्टिकल को पढ़ने के लिए धन्यवाद! गेहूं के दलिये के फायदों को पहचानने और इसे अपने आहार में शामिल करने के लिए आपका स्वागत है।

Read more

Vitamins sources and deficiency disorders

जानें विटामिन (A, B, C, D, E, K) के स्रोत और उनकी कमी से होने वाले रोग!

जानें विभिन्न विटामिन के स्रोत और उनकी कमी से होने वाले रोगों के बारे में। संतुलित आहार के साथ स्वस्थ रहने के तरीके जानें।